Vishwakarma Puja Aarti Hindi PDF (Download)

Vishwakarma Puja Aarti Hindi PDF Download (Vishwakarma Ji Ki Aarti Lyrics in Hindi, Vishwakarma Puja Aarti in Hindi): विश्वकर्मा जयंती विश्वकर्मा, एक हिंदू देवता, दिव्य वास्तुकार के लिए उत्सव का दिन है। उन्हें स्वयंभू और दुनिया का निर्माता माना जाता है। उन्होंने द्वारका के पवित्र शहर का निर्माण किया जहां कृष्ण ने शासन किया, पांडवों के लिए इंद्रप्रस्थ का महल, और देवताओं के लिए कई शानदार हथियारों के निर्माता थे।

विश्वकर्मा Vishwakarma Puja Aarti Hindi PDF बंगाली माह भाद्र के अंतिम दिन मनाया जाता है। इस वर्ष विश्वकर्मा पूजा 17 सितंबर, 2023 को मनाई जाएगी।

Vishwakarma Puja Aarti Hindi PDF

विश्वकर्मा भगवान की आरती (Vishwakarma Puja Aarti in Hindi – Vishwakarma Puja Aarti in Hindi PDF)

ॐ जय श्री विश्वकर्मा प्रभु जय श्री विश्वकर्मा।

सकल सृष्टि के कर्ता रक्षक श्रुति धर्मा ||

आदि सृष्टि में विधि को, श्रुति उपदेश दिया।

शिल्प शस्त्र का जग में, ज्ञान विकास किया ||

ऋषि अंगिरा ने तप से, शांति नही पाई।

ध्यान किया जब प्रभु का, सकल सिद्धि आई॥

रोग ग्रस्त राजा ने, जब आश्रय लीना।

संकट मोचन बनकर, दूर दुख कीना॥

जब रथकार दम्पती, तुमरी टेर करी।

सुनकर दीन प्रार्थना, विपत्ति हरी सगरी॥

एकानन चतुरानन, पंचानन राजे।

द्विभुज, चतुर्भुज, दशभुज, सकल रूप साजे॥

ध्यान धरे जब पद का, सकल सिद्धि आवे।

मन दुविधा मिट जावे, अटल शांति पावे॥

श्री विश्वकर्मा जी की आरती, जो कोई नर गावे।

कहत गजानन स्वामी, सुख सम्पत्ति पावे॥

ॐ जय श्री विश्वकर्मा प्रभु जय श्री विश्वकर्मा।

Vishwakarma Puja Aarti Hindi (श्री विश्वकर्मा पूजा आरती)

Vishwakarma Puja Aarti Hindi PDF Download
Vishwakarma Puja Aarti Hindi PDF Download

Vishwakarma Aarti Lyrics PDF

ॐ जय श्री विश्वकर्मा प्रभु जय श्री विश्वकर्मा।

सकल सृष्टि के कर्ता रक्षक श्रुति धर्मा ॥1॥

आदि सृष्टि में विधि को, श्रुति उपदेश दिया।

शिल्प शस्त्र का जग में, ज्ञान विकास किया ॥2॥

ऋषि अंगिरा ने तप से, शांति नही पाई।

ध्यान किया जब प्रभु का, सकल सिद्धि आई॥3॥

रोग ग्रस्त राजा ने, जब आश्रय लीना।

संकट मोचन बनकर, दूर दुख कीना॥4॥

जब रथकार दम्पती, तुमरी टेर करी।

सुनकर दीन प्रार्थना, विपत्ति हरी सगरी॥5॥

एकानन चतुरानन, पंचानन राजे।

द्विभुज, चतुर्भुज, दशभुज, सकल रूप साजे॥6॥

ध्यान धरे जब पद का, सकल सिद्धि आवे।

मन दुविधा मिट जावे, अटल शांति पावे॥7॥

श्री विश्वकर्मा जी की आरती, जो कोई नर गावे।

कहत गजानन स्वामी, सुख सम्पत्ति पावे॥8॥

Vishwakarma Aarti Hindi PDF Download Link

Download PDF Vishwakarma Aarti

Download Vishwakarma Puja Aarti Hindi PDF

निचे आपको विश्वकर्मा पूजा की आरती का पीडीएफ (Download Vishwakarma Puja Aarti PDF) पूरा दिया गया है आप क्लिक करके डाउनलोड कर सकते हैं।

Vishwakarma Puja Aarti Hindi PDF Download
Vishwakarma Puja Aarti Hindi PDF Download

1 thought on “Vishwakarma Puja Aarti Hindi PDF (Download)”

Leave a Comment