What is Super Computer in Hindi – सुपर कंप्यूटर क्या है?

सुपर कंप्यूटर क्या है (Super Computer Kya Hai, What is Super Computer in Hindi, Supercomputer Kya Hai) सुपर कंप्यूटर क्या है? और सुपर कंप्यूटर कैसे काम करता है? इनके बारे में हमने इस Article में बताया है, तो आप इसे पूरा पढ़े और जानें:

आजकल हम अपने Life की हर प्रक्रिया में Technology का Use करते हैं और यह कंप्यूटर के बिना अस्तित्व में नहीं आ सकता है। सुपर कंप्यूटर का नाम तो आपने सुना ही होगा पर कुछ लोगों को यह पता नहीं होता है कि एक सामान्य कंप्यूटर और सुपर कंप्यूटर में क्या Difference है?

हम अपनी रोज ब रोज की प्रक्रिया में जिस कंप्यूटर का Use करते हैं उसे सामान्य कंप्यूटर कहा जाता है. और ऐसे कंप्यूटर से छोटे-छोटे कार्य जैसे कि साधारण Calculation करना, Microsoft Word File बनाना, Power Point Presentation बनाना, Game खेलना, Movie देखना और साधारण Browsing करना जैसे काम हम सामान्य कंप्यूटर की मदद से कर सकते हैं।

पर ऐसे भी कुछ कार्य होते हैं जो कि एक सामान्य कंप्यूटर नहीं कर सकते हैं, तो ऐसे कार्यों को करने के लिए हमें सुपर कंप्यूटर का सहारा लेना पड़ता है।

What is Super Computer in Hindi – Super Computer Kya Hai

सुपर कंप्यूटर क्या है (Super Computer Kya Hai) | What is Super Computer in Hindi सुपर कंप्यूटर क्या है? सुपर कंप्यूटर क्या है? यह समझने से पहले हमें यह समझना होगा कि कंप्यूटर क्या होता है? कंप्यूटर एक सामान्य तरीका से काम करने वाला Machine है, जो कि Input Devices जैसे के Keyboard और Mouse के जरिए User से कुछ Data Collect करता है और फिर उस Data को Process करता है और आखिर में Process खत्म हो जाने के बाद वह User को उस Input Data का Output देता है। हर एक सामान्य कंप्यूटर इसी तरह से Work करता है लेकिन एक सुपर कंप्यूटर का कार्य इससे कई गुना ज्यादा Fast होता है।

सुपर कंप्यूटर का Use वहां पर किया जाता है जहां पर Real-Time में बहुत ज्यादा Power और Fast से बड़े Calculation को करने की जरूरत पड़ती है। सुपर कंप्यूटर एक सामान्य कंप्यूटर की तरह एक ही समय एक ही Work नहीं करता, बल्कि एक समय में कई सारे Works को एक साथ करने की Capacity रखता है।

मौसम के बारे में Information लेने के लिए, बड़े-बड़े Machine को बनाने के लिए, Natural Resources के बारे में Information हासिल करने के लिए हम “सुपर कंप्यूटर” का Use करते हैं. और जो कंप्यूटर इन से बड़े बड़े कामों को चुटकियों में कर लेता है उसे हम सुपर कंप्यूटर कहते हैं।

सुपर कंप्यूटर एक सामान्य कंप्यूटर के मुकाबले बहुत ज्यादा Capacity से Work कर सकता है और बड़े-बड़े Calculations को चंद Second के अंदर पूरा करने की Capacity रखता है।

How to Work Super Computer in Hindi – सुपर कंप्यूटर कैसे काम करता है?

सामान्य कंप्यूटर सीरियल प्रोसेसिंग पर कार्य करता है जबकि सुपर कंप्यूटर पैरेलल प्रोसेसिंग पर कार्य करता है।

Serial Processing मतलब होता है एक कार्य समाप्त होने के बाद ही दूसरे कार्य को करना और Parallel Processing का मतलब एक ही समय Unlimited कार्य को करना होता है। Serial Processing की वजह से सामान्य कंप्यूटर के कार्य करने की गति Slow होती है, पर सुपर कंप्यूटर में हजारों प्रोसेसर लगे हुए होते हैं जो प्रति Second लाखों Calculation करने की क्षमता रखता है।

सुपर कंप्यूटर अपने कार्य को करने के लिए Parallel Processing का Use करते हैं। जिसमें वह एक कार्य को छोटे-छोटे कार्यों में Divide कर देता है,और सुपर कंप्यूटर में लगे हुए हजारों प्रोसेसर उन सभी Divided किए हुए कार्यों को एक समय पर करते हैं।

सुपर कंप्यूटर में लगे हुए हजारों प्रोसेसर एक साथ कार्य करते हैं और किसी भी जटिल परिस्थिति का कुछ ही Second के अंदर Solution निकाल लेते हैं।

कोई कंप्यूटर कितनी बड़ी Calculation कितनी जल्दी से कर लेता है इस काबिलियत के हिसाब से किसी कंप्यूटर को सुपर कंप्यूटर का दर्जा दिया जाता है। सुपर कंप्यूटर , 1 सेकंड में 1 अरब तक की Calculation कर सकता है।

सुपर कंप्यूटर की स्पीड कैसे मापी जाती है?

सुपर कंप्यूटर की गति FLOPS (Floating Point Operation Per Second) में मापी जाती है, जबकि एक सामान्य कंप्यूटर की गति MIPS (Million Instructions Per Second) में मापी जाती है. हमारे सामान्य कंप्यूटर में Windows, Linux ऐसे ऑपरेटिंग सिस्टम(OS) का इस्तेमाल किया जाता है पर क्या आपको पता है की Super कंप्यूटर में किस ऑपरेटिंग सिस्टम का इस्तेमाल किया जाता है?

जब नए सुपर कंप्यूटर की शुरुआत हुई थी तो यह सुपर कंप्यूटर UNIX ऑपरेटिंग सिस्टम पर काम करते थे पर अभी Technology बदल गयी है और Technology के इस बदलाव की वजह से ज्यादातर सुपर कंप्यूटर में Linux ऑपरेटिंग सिस्टम का इस्तेमाल किया जाता है। और सुपर कंप्यूटर के कार्य के हिसाब से उसकी ऑपरेटिंग सिस्टम में भी Changing किया जाता है। और भी कई सारी ऑपरेटिंग सिस्टम का इस्तेमाल सुपर कंप्यूटर में किया जाता है।

Use of Super Computer in Hindi – सुपर कंप्यूटर का उपयोग

  • सुपर कंप्यूटर का उपयोग एक साथ करोड़ो, अरबों Calculations को करने के लिए किया जाता है।
  • ज्यादातर सुपर कंप्यूटर का उपयोग वैज्ञानिक कार्यों, Engineering Applications के लिए ही किया जाता है।
  • किसी Programming Language को बनाने के लिए सुपर कंप्यूटर का उपयोग किया जाता है।
  • जलवायु क्षेत्रों में Research करने के लिए भी सुपर Computer का उपयोग किया जाता है.
  • Space Stations में सुपर कंप्यूटर का उपयोग किया जाता है।
  • बड़ी-बड़ी मशीनों का आविष्कार करने के लिए भी सुपर कंप्यूटर का उपयोग किया जाता है।

सुपर कंप्यूटर के तो ऐसे अनगिनत कार्य है। आसान शब्दों में कहा जाए तो जो काम एक General Computer नहीं कर सकता है वह कार्य एक सुपर कंप्यूटर बड़ी ही आसानी से कर सकता है।

What is the price of a supercomputer – सुपर कंप्यूटर की कीमत कितनी होती है?

सुपर कंप्यूटर की कीमत भी बहुत ज्यादा होती है। सामान्य कंप्यूटर के मुकाबले तो कई गुना अधिक है। एक सामान्य इंसान के लिए सुपर कंप्यूटर को खरीदना संभव नहीं है। सुपर कंप्यूटर की कीमत उसके कार्य करने की क्षमता के हिसाब से नहीं की जाती है बल्कि सुपर कंप्यूटर की Flops कितनी है, इस हिसाब से भी सुपर कंप्यूटर की कीमत आंकी जाती है। जो सुपर कंप्यूटर सबसे ज्यादा Fast होगा उसकी कीमत उतनी ही ज्यादा होगी।

एक सामान्य कंप्यूटर के मुकाबले सुपर कंप्यूटर की Size भी बहुत बड़ी होती है। इसकी ऊंचाई कुछ फीट से लेकर 100 फिट तक की होती है. इसीलिए सुपर कंप्यूटर की कीमत ज्यादा होती है।

सुपर कंप्यूटर की कीमत 100,000$ से लेकर 100 Million $ तक होती है।

एक सुपर कंप्यूटर की Size इस पर भी निर्भर करती है कि वह कितने छोटे-छोटे कंप्यूटर से मिलकर बना हुआ है।

एक सुपर कंप्यूटर कई सारे कंप्यूटर को मिलाकर बना हुआ होता है और वे सभी कंप्यूटर एक साथ कार्य करते हैं। एक सामान्य कंप्यूटर के मुकाबले सुपर कंप्यूटर हजारों गुना ज्यादा तेजी से और Accurate कार्य करता है।

सुपर कंप्यूटर कब और किसने बनाया था?

अगर आपको कंप्यूटर के इतिहास के बारे में थोड़ा सा ज्ञान है तो आपको पता होगा कि एक Single व्यक्ति ने सुपर कंप्यूटर का निर्माण नहीं किया था, बल्कि बहुत सारे लोगों के योगदान की वजह से एक सुपर Computer को बनाया गया। सुपर कंप्यूटर को बनाने में Seymour Cray का बहुत बड़ा योगदान है।

विश्व का सबसे पहला कंप्यूटर सन् 1960 में बनाया गया था और फिर बाद में उसका नाम CDC 1604 रखा गया था।

अन्य पढ़े:

FAQ on Super Computer

सुपर कंप्यूटर का उपयोग कौन करता है?

सुपरकंप्यूटर मूल रूप से राष्ट्रीय सुरक्षा से संबंधित एप्लीकेशन में उपयोग किए जाते थे, जिसमें परमाणु हथियार डिजाइन और क्रिप्टोग्राफी शामिल थे। आज वे नियमित रूप से एयरोस्पेस, पेट्रोलियम और ऑटोमोटिव इंडस्ट्री द्वारा नियोजित हैं।

दुनिया का सबसे शक्तिशाली कंप्यूटर कौन सा है?

टोक्यो – फुजित्सु और जापान के राष्ट्रीय अनुसंधान संस्थान रिकेन द्वारा विकसित फुगाकू सुपरकंप्यूटर ने चीन और अमेरिका के कॉम्पिटिटर को पछाड़ते हुए दुनिया के सबसे तेज सुपरकंप्यूटर के रूप में अपने नाम खिताब किया है।

Leave a Comment